15 ऐसे तरीके जिनसे इम्युनिटी शक्ति बढाई जा सकती है | 15 ways to boost immunity at home in hindi.

15 ways to boost immune system naturally

15 ways to boost immunity at home in hindi रोजमर्रा की जिंदगी में हमें स्वस्थ रखने के लिए हमारे शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है रोजाना न जाने कितने प्रकार के सूक्ष्म कीटाणु जिन्हें हम बैक्टीरिया वायरस कह के पुकारते है हमारे शरीर में प्रवेश करते है और हमारे शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली इन्हें ख़तम कर हमारे शरीर को स्वस्थ रखती है पर कभी कभी ऐसा भी होता है की हमार शरीर की प्रतिरक्षक शक्ति के कमजोर होने पर हम जल्दी ही किसी भी छोटी मोटी बीमारे के कब्जे में जकड जाते है जैसा आज के समय में देखने को मिल रहा है कमजोर प्रतिरक्षक प्रणाली के कारण हम आसानी से कोरोना वायरस के कब्जे में आ सकते है

ऐसे में हमारे हमारे जहन में कुछ सवाल जरुर आते है जैसे क्या शरीर की इम्युनिटी बढ़ाई जा सकती है ?, इम्युनिटी कैसे बढायें ?,क्या कोल्ड को रोका जा सकता है ?,क्या खाने से इम्युनिटी बडाई जा सकती है ?,बच्चों में प्रतिरक्षा प्रणाली कैसे बढायें ?,कैसी दिनचर्या से प्रतिरक्षा प्रणाली बढायी जा सकती है ?How can I boost my immune system fast ?,What is the best natural immune booster?, What are the signs of a weak immune system?, how can I boost my immune system in 24 hours?,15 ways to boost immunity at home in hindi ?

आपके जहन में आने वाले सभी सवालों का अंत और सभी सवालों के जवाब इस लेख में आपको मिल जायेंगे | इसीलिए लेख को पुरो पढ़े और अपने परिवार के स्वास्थ्य को बनाये रखने में उनकी मदद करे | जी हाँ दोस्तों इस लेख में बताया गया है की किन किन आसान तरीकों से आप घर बैठें अपने शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली को बढा सकते है

साथ ही उन सभी मिथ का भी अंत हो जायेगा जो हमें रोजमर्रा के जीवन में टीवी में देखने को और सुनने को मिलती है ?जैसे अमुख दवा खाएं और 24 घंटों में इम्युनिटी बढायें |यहाँ हम आपको 15 ऐसे तरीके बताने जा रहे है जिन्हें आप आसानी से उपयोग में ले सकते है |15 ways to boost immunity,15 ways to boost immune system,15 ways to boost immunity quickly,15 ways to boost immunity in children,15 ways to boost immune system fast,15 ways to boost immune,15 ways to boost immune system naturally,

Table of Contents

15 तरीके जिनसे इम्युनिटी शक्ति बढाई जा सकती है |
15 ways to boost immunity at home in hindi .

1. पर्याप्त नींद लें। Get adequate sleep.

सोना हमारे जीवन का एक महत्वपूर्ण भाग है जिस प्रकार हम भोजन पानी के बगैर अपने जीवन की कल्पना भी नहीं कर सकते उसी प्रकार “15 ways to boost immunity at home हम सोने की प्रक्रिया को हलके में नहीं ले सकते पर आज कल की भागदौड़ भरी लाइफस्टाइल में और दैनिक जीवन में बढ़ते कंप्यूटर मोबाइल के उपयोग ने हमारे नींद लेने की प्राक्रतिक प्रक्रिया को काफी हद्द तक हानि पहुंचाई है रात को देर से सोना ,देर रात तक मोबाइल का इस्तेमाल करना न सिर्फ हमारे आँखों को नुक्सान पहुंचता है बल्कि हमारी नेचुरल नींद लेने की क्षमता को भी नुक्सान पहुंचता है

कई वैज्ञानिक शोधों ने परिमाणित भी किया है की मनुष्य को स्वस्थ रहने कई लिए कम से कम 8 आठ घंटे की नींद लेना जरुरी होता है आपको यह जानकार आश्चर्य होगा की नींद आने के बाद हमारे शरीर में वो सब क्रियाय होती है जो जड़\ग्रिट अवस्था में कम देखने को मिलती है जैसे जब हम सो रहे होते है तब हमरे शरीर में प्रचुर मात्र में वायु का आदान प्रदान होता रहता है

जिससे शरीर के अंदुरीनी अंगो की कार्य क्षमता के साथ साथ हमारे शरीर में मजूद T lymphosite cell जो प्रतिरक्षक प्रणाली में पुलिस का काम करते है बाहरी सूक्ष्म कणों को पहचानते है और सबसे जरुरी उनको नष्ट करने के लिए B lymphosite cell का निर्माण करने में मदत करते है दोस्तों आपको जानना भी जरुरी है की हमारे सोने का टाइमिंग रात में ही हो तो यह प्रणाली ज्यादा आचे से काम करती है |

वयस्कों को रात में 7 या अधिक घंटे की नींद लेने का लक्ष्य रखना चाहिए, जबकि किशोर को 8-10 घंटे और छोटे बच्चों और 14 घंटे तक शिशुओं की आवश्यकता होती है।

यदि आपको सोने में परेशानी हो रही है, तो बिस्तर पर जाने से एक घंटे पहले कंप्यूटर मोबाइल के उपयोग का समय सीमित करने का प्रयास करें, क्योंकि आपके फोन, टीवी और कंप्यूटर से निकलने वाली नीली रोशनी आपके सर्कैडियन लय को बाधित कर सकती है, या आपके शरीर की प्राकृतिक नींद-नींद चक्र को हानि पहुंचा सकती है

अच्छी नींद के लिए अंधेरे कमरे में सोना या स्लीप मास्क का उपयोग करना चाहिए , हर रात एक ही समय पर बिस्तर पर जाना चाहिए |“Early to bed, and early to rise makes a man healthy, wealthy and wise.” It’s actually true.

2. हरी पत्तेदार सब्जियों और फलों का सेवन करे। Eat green leafy vegetables and fruits.

15 ways to boost immunity at home इम्युनिटी बढाने के 15 तरीकों में यह सबसे आसान और कारगर तरीका है जिससे हम आसानी से रोजाना हमारे जीवन में लागू कर हमारे शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली मजबूत कर सकते है जी हा दोस्तों हरी सब्जियां प्राकृतिक रूप से इम्युनिटी बूस्टर का काम करती है

हरी सब्जियों में प्रचुर मात्रा में लोहा विटामिन, मिनरल,फोल्लिक एसिड, फाइबरऔर जरुरी अमीनो अम्ल भी होते है और वहीँ इनको पकाने के लिए इस्तेमाल में आने वाले मसलों के गुण अगर हम यहाँ बताने लगे तो यह लेख बहुत बड़ा हो जायेगा |

जैस की आज कल की भागदौड़ भरी लाइफस्टाइल में हम देखते है की बच्चें ही नहीं बढे भी जंक फ़ूड पैक्ड फ़ूड को खाना ज्यादा पसंद करते है जो हमारे शरीर को सीधे सीधे नुक्सान पहुंचाते है और कभी कभी तो जंक फ़ूड पैक्ड फ़ूडइ खाने के बाद हमें सीधे अस्पताल भि जाने की नोबत आ जाती है

कई वैज्ञानिक शोधों में यह पाया गया है की पैक्ड फ़ूड को लम्बे समय तक सही रखने के लिए इनमे जो प्रजर्ववेटिव मिलाये जाते है इसके ज्यादा इस्तेमाल से केंसर जैसे घटक रोग भी हो सकते है इसीलिए जहाँ तक हो सके घर के बनाये भोजन का ही उपयोग करे और स्वस्थ रहे |

3. सही वजन बनाए रखें।Maintain a healthy weight.

जी हाँ मित्रों 15 ways to boost immunity system fast में से एक सबसे असरदार तरीका यह भी है की हम अपने शरीर का वजन नियंत्रण में रखे | आदि काल से भारत में यह परंपरा रही है की हमें घी से चुपड़ी रोटी और सब्जी खानी चाहिए जी उस समय तक तो सही था क्योंकि तब लोग मेहनत का काम बहुत करते थे पर जबसे टेक्नोलॉजी ने पैर पसारे है तब से ज्यादातर मेहनत के काम मशीन करती है और हम सिर्फ उनका सचालन करते है

जिससे जादातर लोगो में मोटापे की शिकयत आने लगी है आज पुरे भारत देश में हर 5 में से 1 व्यक्ति मतपे का शिकार है आपको यह जानकार आश्चर्य होगा की मोटापा अची हेल्थ्की नहीं बीमारी का लक्षण है जी हा दोस्तों मोटापे के चलते हम रोजमर्रा के कार्य भी नहीं कर पते और बेडोल शरीर देखने में भी सुन्दरता की निशानी तो कतई नहीं है

वैज्ञानिको का मानना है की अगर व्यक्ति अपने वजन को एअक सिमित मात्रा में रखे तो उसकी न सिर्फ रोग्प्रतिराक्षक सकती बदती है बल्कि वह मोटे व्यक्ति की तुलना में ज्याता फुर्तीला भी होता है इसीलिए शरीर का वजन नियंत्रण में रखे | नियंत्रित वजन की कोई परिभाषा नहीं है हर आयु वर्ग के लिए इसकी सीमा कुछ इस प्रकार है बच्चों का आदर्श वजन 45-55Kg और वयस्कों का 75-85Kg

4. तनाव को कम करने की कोशिश करें।Try to minimize stress.

15 ways to boost immunity at home में से एक सबसे असरदार तरीका यह है तनाव और चिंता से छुटकारा प्रतिरक्षा स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण है। तनाव हमारे जीवन में मुश्किलें बढ़ने के साथ साथ बहुत सी बिमारियों को भी आमंत्रित करता है जैसे हाई ब्लड प्रेशर,सर दर्द, चिडचिडापन, ज्यादा गुस्सा करना, दिमागी थकान, लो ब्लड प्रेशर, हार्ट अटैक, स्ट्रोक, नींद न आना, सोचने समझने की क्षमता में कमी इत्यादि और भी गंभीर बीमारी सिर्फ एक तनाव के कारन हो सकती है |

एक पुरानी कहावत है “चिता सिर्फ एक बार शरीर को जलाती है और चिंता हर रोज अन्दर से शरीर को नष्ट करती है

जहाँ तक हो सके हमें चिंता को हमारे ऊपर हावी नहीं होने देना चाहिए | चिंता मुक्त रहने के लिए हम बहुत से काम कर सकते है जिनमे सबसे पहले है मनोरंजन, खेल खुद, पार्क में घूमना, अपनी रूचि के कार्य करना या कोई भी ऐसी गतिविधियाँ जो आपके तनाव को प्रबंधित करने में आपकी मदद कर सकती हैं, उनमें ध्यान, व्यायाम, जर्नलिंग, योग, और अन्य मनन अभ्यास भी शामिल हो सकते हैं। आप एक लाइसेंस प्राप्त परामर्शदाता या चिकित्सक को देखने से भी लाभान्वित हो सकते हैं

हमेशा खुश रहने का प्रयास करें | चिंता मुक्त रहने के लिए आप बच्चों के साथ अपना समय व्यतीत कर सकते है जिससे बचों जो भी अच्छा लगेगा या घर के बड़े बुजुर्गों के साथ मंदिर जाना ध्यान लगाना भी बहुत अच्छा तरीका है चिंता मुक्त रहने का |

वैज्ञानिकों का मानना है की खुश रहने वाले व्यक्ति में खून के निर्माण की प्रक्रिया अधिक होती है और वह आम लोगो की तुलना में दिमागी और शारीरिक महनत भी अधिक कर सकता है इसीलिए चिंता मुक्त रहे और स्वस्थ रहे |

5. नियमित रूप से व्यायाम करें । Exercise regularly.

नियमित रूप से व्यायाम करना 15 ways to boost immunity at home में से एक जरुरी भाग है हलाकि यह भी देखा गया है की लंबे समय तक तीव्र व्यायाम आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली को दबा सकता है, लेकिन नियमित रूप से मध्यम व्यायाम इसे बढ़ावा दे सकता है। जी हाँ दोस्तों में बात कर रहा हौं gym जिम की आज कल के युवा gym जिम में जाकर भरी वजन से कसरत करने को व्यायाम का नाम देने लगे है जोया अक्सर सुपर हीरो और फिल्मों में दिकाए जाने वाले अभिनेताओं से सम्बंधित होतें है |

युवा पीड़ी यह समझन ही नहीं चाहती की ज्यादातर फिल्मो में धिकाए जाने वाले अभिनेताओं को खास प्रकार के मेकअप के जरिये शरीर की काया बदली जाती है जिसके चलते युवा पीडी बाजार में उपलब्द हानिकारक प्रोटीन सुप्लिमेंट लेते है और अपने शरीर के साथ खिलवाड़ कर बैठते है जिसका खामियाजा उन्हें जिद्गिभर भुगतना पड़ता है इसीलिए मध्यम व्यायाम को ही आप जीवन में अपनाये |

वैज्ञानिकों का मानना है की नियमित रूप से मध्यम व्यायाम करने वालों में रोग प्रतिरोधक क्षमता आश्चर्यजनक रूप से बढती है और साधारण व्यक्ति की तुलना में मध्यम व्यायाम
करने वाले ज्यादातर लोग आम बिमारियों के साथ साथ गंभीर बीमारे से भी बचे रहते है |

मध्यम व्यायाम के उदाहरणों में तेज चलना, स्थिर साइकिल चलाना, टहलना, तैराकी और हल्की पैदल यात्रा शामिल है। माध्यम व्यायाम में सुबह उठकर 30 मिनट चलना ठहलना, दौड़ना, योग करना, कुछ साधारण योगासन करना जिसमे सुर्यनमस्कर प्रमुख है, या आप साइकिल भी चला सकते है |

व्यायाम हमारे शरीर में खून के प्रवाह को बदता है और अगर यह व्यायाम सुबह की ताज़ी हवा में हो तो हमारे शरीर के ऑक्सीजन लेवल को भी बढ़ता है जिससे हमारे शरीर के अन्दर प्राणवायु बड़ती है और साथ ही चेहरे में निखार पर सकारात्मक उर्जा उत्पन्न होती है |

6. विटामिन c युक्त भोजन करे | Eat vitamin c rich food.

विटामिन c युक्त भोजन हमारे शरीर की प्रतिरक्षक प्रणाली को प्राक्रतिक रूप से बढ़ता है विटामिन c युक्त भोजन से हमारे शरीर में साधारण भुखार होने में कामि आती है जैसे सर्दी झुकाम गला ख़राब होना | साधारणतह देखा गया है की विटामिन c युक्त भोजन करने वाले कम बीमार पड़ते है

15 ways to boost immunity में का सेवन बहुत उपयोगी है विटामिन c शरीर कोशिकाओं की रक्षा और उन्हें स्वस्थ रखने में मदद करता है, स्वस्थ त्वचा, रक्त वाहिकाओं, हड्डियों और उपास्थि को बनाए रखने मदद करता है, घाव भरने में मदद करता है

विटामिन सी को शरीर में संग्रहीत नहीं किया जा सकता है, इसलिए आपको हर दिन अपने आहार में इसकी आवश्यकता होती है।

19 से 64 आयु वर्ग के वयस्कों को एक दिन में 40 मिलीग्राम विटामिन सी की आवश्यकता होती है।
आपको अपने दैनिक आहार विटामिन c युक्त भोजन को आवश्यक रूप से शामिल करना चाहिए |
विटामिन c युक्त फल जैसे संतरा नारंगी निम्बू आमला मिर्च इस्ट्रोबेर्री ब्रोक्क्ली अंकुरित दालें आलू इत्यादि |citrus fruit, such as oranges and lemon juice, peppers, strawberries, blackcurrants, broccoli, brussels sprouts, potatoes etc.

यदि आप विटामिन सी की खुराक लेते हैं, तो बहुत अधिक न लें क्योंकि यह हानिकारक भी हो सकता है

7. हाइड्रेटेड रहें | Stay hydrated.

मानव शरीर में 75% पानी से बना है। पानी के बिना, जानवर, पौधे और मनुष्य जल्दी नष्ट हो जाते। पानी पीने से आपका शरीर हाइड्रेटेड और स्वस्थ रहता है। दैनिक जीवन के कार्यों को बनाए रखने के लिए, उचित जलयोजन आवश्यक है।

हाइड्रेटेड रहने के फायदे निम्न हैं।

हृदय स्वास्थ्य को अच्छा बनाये रखता है निर्जलीकरण आपके रक्त की मात्रा को कम करता है, जिससे आपका हृदय कठिन और तेज़ काम करता है ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि आपके शरीर के बाकी हिस्सों में ऑक्सीजन है। दिल का दौरा पड़ने पर, स्ट्रोक और अन्य दिल की स्थिति का खतरा होता है। प्रति दिन पर्याप्त मात्रा में पानी पीने से हम इससे बाख सकते है

ऊर्जा और मस्तिष्क के कार्य को बढ़ाता है माध्यम निर्जलीकरण 1% -3% पानी के कमी से सभी उम्र के लोगों के लिए मनोदशा, एकाग्रता, सिरदर्द, स्मृति, थकान, चिंता और समग्र मस्तिष्क से जुडी समस्या हो सकती है

जोड़ों और मांसपेशियों को सही ढंग से काम करने में मदद करता है

कई बीमारियों का इलाज में मददगार पर्याप्त तरल पदार्थ पीने से सिरदर्द, गुर्दे की पथरी, सर्दी, फ्लू और दौरे में रहत मिलती है

8. सीमित शक्कर Limit added sugars

हमारे शरीर को निशित मात्रा में कार्बोहाइड्रेट की आवश्यकता होती है इसिल्लिये हमें अत्यधिक कार्बोहाइड्रेट लेने से बचना चाहिए

अतिरिक्त शर्करा और परिष्कृत कार्ब्स अधिक वजन और मोटापे बढ़ा सकता हैं

चीनी शर्करा के अधिक सेवन से मोटापा, टाइप 2 मधुमेह और हृदय रोग की संभावनाएं बढ़ जाती है सिमित मात्र में शुगर का इस्तेमाल हमरे शरीर की प्रतिरक्षक प्रणाली को बढ़ता है और बिमारियों के जोखिम को भी कम करता है

9. स्वस्थ वसा ओमेगा -3 का सेवन करें | Eat more healthy fats Omega-3 fats.

ओमेगा -3 वसा एक प्रकार का पॉलीअनसेचुरेटेड फैटी एसिड है जो स्वास्थ्य लाभ प्रदान करता है, जैसे:

  1. मस्तिष्क और तंत्रिका तंत्र के सामान्य कार्यों को मजबूती प्रदान करना
  2. कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करना और ह्रदय की धमनियों को स्वस्थ रखना |
  3. शुष्क नेत्र रोग से बचाव
  4. शरीर में सूजन को कम करना
  5. हमारा शरीर ओमेगा -3 फैटी एसिड नहीं बना सकता है इसीलिए खाद्य पदार्थ और पेय पदार्थ के सेवन से ओमेगा -3 युक्त भोजन करना चाहिए | उदाहरण के लिए, अंडे, दूध और सोया पेय को ओमेगा -3 एस से फोर्टिफाई किया जा सकता है। शरीर भोजन से मिलने वाले ALA को DHA और EPA में बदल सकता है

ALA, या अल्फा-लिनोलेनिक एसिड
डीएचए, या डोकोसाहेक्सैनीक एसिड
ईपीए, या ईकोसैपेंटेनोइक एसिड

ओमेगा -3 वाले खाद्य पदार्थ

  1. मछली
  2. अखरोट
  3. अलसी
  4. चिया बीज
  5. जैतून का तेल

10. खमीर युक्त खाद्य पदार्थ खाएं या प्रोबायोटिक लें | Eat more fermented foods or take a probiotic supplement.


किण्वित खाद्य पदार्थ और पेय पदार्थ तेजी से लोकप्रिय हो रहे हैं। किण्वित खाद्य पदार्थ सदियों से मानव आहार का हिस्सा रहे हैं, और शुरू में खाद्य पदार्थों को संरक्षित करने, स्वाद में सुधार और खाद्य विषाक्त पदार्थों को खत्म करने के तरीके के रूप में उत्पादित किए गए थे।

किण्विण जिसे खमीर के नाम से जाना जाता है किण्वित खाद्य पदार्थ वे पदार्थ होते है जिन्हें खमीर और बैक्टीरिया जैसे सूक्ष्मजीव, खाद्य पदार्थों (जैसे शर्करा जैसे ग्लूकोज) को अन्य उत्पादों (जैसे कार्बनिक अम्ल, गैस या शराब) में तोड़ देते हैं। ) का है। किण्वित पदार्थों जैसे दही,वाइन,बीयर,साइडर आदि |

प्रोबायोटिक्स : कई लोग प्रोबायोटिक्स को आंत के लिए ’अच्छा’ या bacteria अनुकूल ’बैक्टीरिया के रूप में जानते हैं, जिसमें लैक्टोबैसिलस और बिफीडोबैक्टीरियम सबसे प्रसिद्ध हैं। प्रोबायोटिक्स जीवित सूक्ष्मजीव या बैक्टीरिया होते हैं जो मानव शरीर को 4, 5 का स्वास्थ्य लाभ प्रदान करते हैं।

प्रीबायोटिक्स खाद्य सामग्री हैं जैसे

  1. लहसुन
  2. प्याज
  3. गेहूँ
  4. कासनी
  5. यरूशलेम आटिचोक
  6. टमाटर
  7. जौ
  8. शहद
  9. राई
  10. दूध (मानव और गाय का दूध)

किण्वित खाद्य पदार्थों के साथ कई स्वास्थ्य लाभ जुड़े रहे हैं, जिनमें हृदय रोग का जोखिम कम होना, उच्च रक्तचाप, मधुमेह, मोटापा और सूजन शामिल हैं। ये बेहतर वजन प्रबंधन, बेहतर मूड और मस्तिष्क की गतिविधि, हड्डियों के स्वास्थ्य में वृद्धि और से भी जुड़े हुए हैं

व्यायाम 1 के बाद बेहतर रिकवरी, हृदय स्वास्थ्य को देखते हुए, प्रोबायोटिक्स कम घनत्व वाले लिपोप्रोटीन (एलडीएल) कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद करते हैं,

11. जड़ी बूटियों के साथ प्रतिरक्षा में सुधार Improve immunity with herbs and supplements

बरतिया सामजिक परंपरा में दैनिक जीवन में जड़ी बूटियों व् काढ़े के सेवन का उल्लेख मिलता है | हमारे देश में हर बीमारी से बचने के लिए बढे बूढ़े काढ़ा पीने की सलाह देते है जो साधारण भारतीय रसूई घर में मोजूद मसालों से बांये जा सकते है |

साधारण तह हम इन घरेलु नुश्कों को दादी मा के नुस्खे देसी इलाज आदि नमो से जानते है और ये काफी हद तक हमें बिमारियों से बचने में कारगर भी होते है |

जैसे चाय बनाते समय अदरक लसून लॉन्ग इलायची तुलसी के पत्ते का इस्तेमाल आम है जिसका सेवन लोग सर्दी झुखाम में करते है |

हमारे भारतीय समाज में इसे कई नुस्के है जिनसे बहतरीन परिणाम प्राप्त होते है
जिनका उपयोग न सिर्फ हमें बिमारियों से बचाता है बल्कि हमारी शरीर की प्रतिरक्षक प्रणाली को प्राकृतिक रूप से बूस्ट करने का काम भी करता है

साधारण कच्ची हल्दी जो हमारे घरों में काम आती है उसके कितने फायदे है यह हमारी पिछले लेख में पढ़ सकते है |

घर में पाई जाने वाली जड़ी बूटियों

  1. लॉन्ग
  2. अजवाईन
  3. हींग
  4. लहसुन
  5. दालचीनी आदि

12. धूम्रपान न करें। Don’t smoke.

15 ways to boost immunity धुम्रपान न करना भी शामिल है स्वस्थ जीवन के ले कोई भी बुरे या गलत शौक का परिणाम भी बुरा ही होता है हम सब देखते है टीवी में अख़बार में “smoking is injurious to health”

धुम्रपान या सिगरेट स्मोकिंग शरीर के लिए बहुत ही हानिकारक है। धुम्रपान शरीर के इतना खतरनाक है की यह शरीर के लगभग सभी अंगों को नुक्सान पहुंचाता है। इससे शरीर में कई प्रकार की बीमारियाँ होती हैं और स्मोकिंग करने वाले व्यक्ति का स्वास्थ्य धीरे-धीरे ख़राब होने लगता हैलोग एक अनुमान के तहत 5-6 व्यक्ति में एक व्यक्ति की मौत सिगरेट स्मोकिंग से हो रही है

धुम्रपान करने वाले व्यक्ति का प्रतिरक्षा प्रणाली धीरे-धीरे कमज़ोर हो जाता है इसलिए Smokers को श्वसन तंत्र जे जुड़े संक्रमण (Respiratory Infection) जल्दी-जल्दी होते रहते हैं।

धुम्रपान अन्य कई प्रकार के स्व-प्रतिरक्षित बिमारियों जैसे क्रोहन रोग और आर्थराइटिस का कारण भी बन सकता है। ज्यादातर धुम्रपान करने वाले व्यक्तियों में डायबिटीज टाइप 2 (IDDM) होने कारण भी स्मोकिंग को ही माना गया है।

हड्डियों में कमज़ोरी Weakness of Bones शराब की लत की तरह ही धुम्रपान से भी ऑस्टियोपोरोसिस का खतरा बढ़ जाता है।

कम उम्र में धुम्रपान करने वाली महिलाओं के शरीर का एस्ट्रोजन लेवल कम हो जाता है। जिसके कारन कम उम्र में ही मेनोपौस (Menopause) हो जाता है

ह्रदय और रक्त वाहिकाओं से रोग Heart and Blood Vessels linked Disease धुम्रपान रक्त कोशिकाओं को धीरे-धीरे नष्ट कर देता और ह्रदय को पूरी तरीके से कमज़ोर कर देता है।
हृदय रोग Cardiovascular disease (CVD)
कोरोनरी ह्रदय रोग Coronary heart disease (CHD) – इसमें धमनियां पतली और बंद हो जाती है।

दिल का दौरा पड़ना Heart attack

एनजाइना Angina – ह्रदय तक सही प्रकार से रक्त न पहुँच पाने के कारण छाती में बहुत तेज़ दर्द होना।

हाइपरटेंशन Hypertension (High Blood Pressure)

अथेरोस्क्लेरोसिस Atherosclerosis इस रोग में Plaque नामक चीज़ रक्त धमनियों में जमा हो जाता है।

स्ट्रोक Stroke दिमाग में खून जमा होने या ब्लीडिंग होने के कारण दिमाग के कोशिकाएं नष्ट हो जाती हैं जिससे कारण स्ट्रोक हो सकता है।

अगर आप धुम्रपान करने के आधी है तो इसे धीरे धीरे कम कर सकते है या इससे निजाद पाने के लिए चिकित्सक की मदद भी ले सकते है |

13. सिमित मात्रा में शराब का सेवन लाभदायक | If you drink alcohol, drink only in moderation.

डॉक्टरों का मनाना है कि शराब कम-कम पीने से शरीर को इससे कई प्रकार के लाभ होते हैं तो दूसरी तरफ बहुत सारे डॉक्टरों का मनाना है शराब धीरे-धीरे लत बन जाती है जिसके कारण कई प्रकार के स्वास्थ्य संबंधी मुश्किलें भी बढ़ सकती है

मद्य विषाक्तता Alcohol Poisoning बहुत ज्यादा शराब पीने पर शराब शरीर के लिए जहर के रूप में भी बदल सकता है।

लीवर ख़राब होने का खतरा Risk of Liver Failure ज्यादा शराब पीने से कई प्रकार के शरीर के अंग जैसे लीवर, आमाशय, तथा दिमाग पर बहुत बुरा असर पड़ता है। इससे कार्डियोवस्कुलर बीमारियाँ तथा ब्लड प्रेशर से जुड़ी बीमारियां भी होने का खतरा रहता है |

मोटापा बढ़ता है Leads to Obesity ज़्यादा शराब पीने से आपका वजन भी बहुत ज्यादा बढ़ सकता है क्योंकि शराब ज्यादा-से-ज्यादा कैलोरीज उत्पन्न करता है जिससे कई प्रकार के ओबेसिटी से जुड़ी बीमारियाँ जैसे हाई ब्लड प्रेशर, डायबिटीज होने की अवस्था जागृत हो जाती है।

नियत मात्रा में शराब का सेवन ही सही रहता है जैसे

  1. मानसिक तनाव से राहत Relieves from Mental Stress
  2. सर्दी में शरीर को गर्मी प्रदान करता है Provides Warmness to Body in Winter
  3. यह भूख बढाता It Increase Appetite शराब या अल्कोहल आमाशय में भी रक्त प्रबाह को
  4. बढ़ा देता है जिसके कारण व्यक्ति का भूख बढ़ जाता है।
  5. वज़न बढाता है It Increases weight
  6. अच्छी नींद प्रदान करता है Provides good sleep
  7. दर्द कम करता है Reduce Severe Pain

14. उचित साफ-सफाई | Proper sanitization.

संक्रमण सूक्ष्म जीवों के कारण होते हैं जिन्हें रोगजनकों- बैक्टीरिया, वायरस, कवक या परजीवी के रूप में जाना जाता है – जो शरीर में प्रवेश करते हैं और हमारे शरीर को संक्रमित क्र देते है कुछ लोगों में – विशेष रूप से दिल की बीमारी या कैंसर जैसी अंतर्निहित बीमारियों वाले लोग, जिन्हें गंभीर चोटें लगी हैं, या जो दवाएं ले रहे हैं, जो प्रतिरक्षा प्रणाली को कमजोर करते हैं उनके लिए संक्रमण के साथ बीमार होने से बचना अधिक कठिन है।

अच्छी स्वच्छता: संक्रमण को रोकने का प्राथमिक तरीका अच्छी व्यक्तिगत स्वच्छता की आदतों की पालना करना हमारा पहला लक्ष्य होता है |

  1. नियामित रूप से सफाई न सिर्फ अपने शरीर की बल्कि अपने आस पास की सफाई आपको बहुत सी बिमारियों से बचा सकरी है जिनमे साधारण बीमारियाँ जैसे दाद खाज खुजली ,मलेरिया , टाइफाईड,डेंगू ,चिकन गुनिया , कोरोना , जिन्को वायरस, खसरा,पीलिया आदि
  2. अपने हाथों को अच्छी तरह से साबुन या क्लीन्ज़र अपनी कलाई और हथेलि, नाखूनों के नीचे और अपनी उंगलियों के बीच साफ करना सुनिश्चित करें।
  3. खांसी को कवर करें। जब आप छींकते हैं या खांसी करते हैं, तो एक कपडे के साथ अपना मुंह और नाक ढकें।
  4. बर्तन, चश्मा या खाने के बर्तन साझा न करें।
  5. नैपकिन, टिश्यू, रूमाल या दूसरों द्वारा इस्तेमाल की जाने वाली वस्तुओं के सीधे संपर्क से बचें।
  6. खाना पकाने या उन्हें परोसने से पहले सभी मीट, पोल्ट्री, मछली, फल और सब्जियों को पानी से अच्छी तरह साफ़ करे।
  7. संक्रमण से बचने के लिए के लिए बचपन से सिखाये गए नियम और सरकर स्वर बताये गए दिशा निर्देश किसी भी बीमारी को बढ़ने से रोक सकते है भारतीय संस्क्रिरती में मान्यता भी है की “बचाव ही उपचार है “, ” prevention is better then cure”

15. उचित टीकाकरण | Proper vaccination.

किसी बीमारी के विरुद्ध प्रतिरोधात्मक क्षमता (immunity) विकसित करने के लिये जो दवा खिलायी/पिलायी या किसी अन्य रूप में दी जाती है उसे टीका (vaccine) कहते हैं तथा यह क्रिया टीकाकरण (Vaccination) कहलाती है। संक्रामक रोगों की रोकथाम के लिये टीकाकरण सर्वाधिक प्रभावी एवं सबसे सस्ती विधि माना जाता है।

मजुदा दौर में 17 खतरनाक या जानलेवा बीमारियों के लिए टीके उपलब्ध हैं। पिछले कई वर्षों में, इन टीकों ने बीमारी के अनगिनत मामलों को रोका और लाखों लोगों की जान बचाई है

टीकाकरण आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाकर शरीर में उत्पन्न होने वाले सूक्ष्मजीवों को नष्ट करने का काम करता है।

रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत बनाता

धिकांश देखा गया है की पूरी तरह से टीकाकरण किये व्यक्ति में बिमारियों के गंभीर परिणाम देखने को नहीं मिलते या बहुत ही कम देखें जाते है |

लोगों में टीकाकरण को लेकर समय समय पर गलत धारणाएं भी बन जाती है जिनसे लोगों को बचना चाहिए |

व्यक्तिगत व् पारिवारिक सुरक्षा को सुनिश्चित करने के लिए नियमिट रूप से तीकरण करवाना चाहिए

FAQ

Q1. How can I boost my immune system fast?
Ans. A healthy diet, regular exercise, limited intake of alcohol, proper vaccination, adequate sleep, and proper sanitization can improve immunity.

Q2. What is the best natural immune booster ?
Ans. A healthy diet, regular exercise, Omega 3 enriched food, Maintain a healthy weight, and consumption of herbs and supplements may increase immunity naturally.

Q3. What are the signs of a weak immune system?
Ans. If you get cold frequently get disease in a week get cold easily or have chronic diseases like Tb, diabetes, high blood pressure , low blood pressure then you should have low immune power.

Q4. How can I boost my immune system in 24 hours ?
Ans. No, there is no shortcut to improving immunity within 24 hours, and those who are committed to improving immunity within 24 hours are liars, and those medicines may be injurious for health. Be aware of them. Excess use of medicine may cause cancer or other major diseases

Q5.Is there any medicine to boost immunity within 24 hours ?
Ans. No

Q6. मैं अपनी प्रतिरक्षा प्रणाली को तेजी से कैसे बढ़ा सकता हूँ ?
Ans.पोस्टिक आहार, नियमित दैनिक व्यायाम, सीमित मात्रा में शराब का सेवन, 8 से 10 घंटे की पूरी नींद, उचित साफ-सफाई, हमारे शरीरशरीर की प्रतिरक्षक प्रणाली को बढ़ा सकती है |

Q7.एक कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली के संकेत क्या हैं?
Ans.जल्दी-जल्दी स्वास्थ्य खराब होना कमजोरी रहना हाई ब्लड प्रेशर की शिकायत गंभीर रोग हमेशा खराब स्वास्थ्य की शिकायत रहना आदि लक्षण कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली के संकेत है |

Q8. मैं 24 घंटे में अपनी प्रतिरक्षा प्रणाली को कैसे बढ़ा सकता हूं ?
Ans.हमारे शरीर में प्रतिरक्षक प्रणाली समय के साथ बनती है बाजार में उपलब्ध कोई भी दवा हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली को 24 घंटे में नहीं बढ़ा सकती और जो भी दवा इस प्रकार का दावा करती है वह सब झूठ है अतः उनके अत्यधिक सेवन से गंभीर रोग जैसे कैंसर हार्ट डिजीज आदि होने की संभावना अधिक बढ़ जाती है इसीलिए हमें इन सब झूठे दावों से बचना चाहिए |

Q9.क्या प्रतिरक्षा प्रणाली किसी भी उम्र में बढ़ाई जा सकती है ?
Ans. हां हमारे शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली किसी भी उम्र में बढ़ाई जा सकती है हमें सिर्फ उचित दिनचर्या पोस्टिक आहार नियमित व्यायाम तनाव मुक्त जीवन शैली का पालन करना होगा

Leave a Reply

Your email address will not be published.